NIV'S BLOG

Intelligence and career are the the Glory of our Niv Education

budhi badee ye paisa Class – VI ICSE

बुद्धि बड़ी या पैस

MCQ   (सही उत्तर चुने )

  1. राजा का स्वभाव कैसा था ?

धूर्त  (     ) लालची  (     )  अहंकारी (✔    )   झूठा (     )

  1. राजा को घूमने के लिए रानी ने किसका भेष बनाया ?

जादूगर का (     ) पुरुष का  (✔   ) साधु का (     ) ग्वाले का (     )

  1. रानी ने नौकर के हाथ सेठ के पास क्या भेजा ?

स्वर्ण मुद्रा (     ) प्रिय घोड़ा (     ) आभूषण (     ) सफ़ेद कपड़े में        लपेटकर रखे ईटें (    ✔ )

  1. रानी किसे श्रेष्ठ समझते हैं ?

पैसा  (     ) सोना (     )  बुद्धि (✔     ) राजमहल (     )

  1. राजा सिर से पैर तक किसके मर में डूबा था ?

शराब (     )  पैसा (✔    )  बुद्धि (     ) पानी  (     )

6 . बुद्धि के आगे पैसा कोई चीज़ नहीं  हैं ?

राजा (  ✔ )    मंत्री (     )  चौबोला (     ) रानी   (     )

  SHORT QUESTION ANSWER (संक्षिप्त प्र / उo )

  1. पैसों के बारे में राजा क्या सोचता था ?

उ० = पैसों के बारे में राजा सोचता था की पैसे के बल पर दुनिया के सब काम – काज चलते हैं।  इस संसार में धर्म – कर्म , स्त्री – पुत्र , मित्र – सखा पैसा ही हैं।

  1. रानी के सामने धूर्तो की दाल क्यों धूर्तो की दाल क्यों नहीं गल पाती थी ?

उ० = रानी अपनी बुद्धि के सहारे सारे काम काज करती और बूढी को श्रेष्ठ मानती इसलिए रानी के सामने धूर्तो की दाल नहीं गलती थी

  1. राजकुमारी चौबोला का क्या प्रण था ?

उ० = राजकुमारी चौबोला का प्रण था  कि जो उन्हे शतरंज के खेल में हरा देगा वे उसी से विवाह करेगी।

  1. रानी ने राजकुमारी चौबोला को किस खेल में हरा दिया ?

उ० = रानी ने राजकुमारी चौबोलो को शतरंज के खेल में हरा दिया।

5 . राजा को क्या देखकर अचंभा हुआ ?

उ० = राजा नगर के बाहर रानी के मकान  के पास औषधालय , पाठशाला , अनाथलय , आदि कई इमारतें बनी हैं। यह देखकर अचंभा हुआ।

  1. राजा अहंकार में सबसे क्या कहता था ?

उ० = राजा अहंकार में सबसे  कहता था कि  संसार में धर्म – कर्म , स्त्री – पुत्र , मित्र – सखा  सब  पैसा ही हैं।

  1. रानी किसे तुच्छ और किसे श्रेष्ठ समझती थी ?

उ० = रानी पैसे को तुच्छ और बुद्धि को श्रेष्ठ समझती थी उनका मानना था बुद्धि के बल पर दुनिया चलती हैं।

  1. एक दिन राजा ने रानी से क्या पूछा ?

उ० = एक दिन राजा ने रानी से पूछा ” रानी सच कहो,  दुनिया में बुद्धि बड़ी है या पैसा।

  1. राजा के पूछने पर की ‘ बुद्धि बड़ी या पैसा ‘ तो रानी ने क्या उत्तर दिया ?

उ० = रानी बोली ” महाराज , यदि आप सच पूछते हैं तो मैं बुद्धि को बड़ा समझता हूँ। बुद्धि से ही पैसा आता हैं। बुद्धि न हो तो सब खजानें यों ही लुट जाते हैं। राजपाठ चौपट हो जाते हैं।

दीर्घ प्र०/ उ० (LONG Q / A)

  1. रानी के पास व्यापार शुरू करने के लिए रुपये कहाँ से आए ?

उ० = रानी ने नौकर के हाथ सफ़ेद कपडे में दो ईटें लपेटकर सेठ के पास भेजा और कहला भेजा की धरोहर के बाले दस हज़ार रुपये मँगाए यह कहकर की रूपये खुद के साथ लौटा दिया जाएँगे और धरोहर वापस ले ली जाएगी। इस तरह व्यपार शुरू करने के लिए रुपये आए।

  1. व्यापार से प्राप्त रुपयों को रानी ने कैसे उपयोग किया ?

उ० = व्यापार से प्राप्त रुपयों का रानी ने गरीबो के लिए मुफ्त दवाखाना , पाठशाला, तथा अनाथालय खुलवा दिए।

  1. रानी के चले जाने पर राजा की क्या दशा हुई ?

उ० = रानी के चले जाने से राजा अकेले हो गए। धूर्तो  की बन आई धूर्त लोग आ – आकर राजा को लूटने लगे। राजा अपना मन बहलाने के लिए राजपाठ मंत्रियों को सौपकर देशाटन के लिए निकल पड़े।

  1. रानी की किस बात पर राजा को बहुत गुस्सा आया फिर उसने क्या किया ?

उ० = रानी द्वारा बुद्धि की बड़ाई और पैसे की निंदा सुनकर राजा को गुस्सा आया तब उन्होंने कहा ” राजा तुम्हें  अपनी बुद्धि का बड़ा घमंड हैं। मैं देखना चाहता हूँ की तुम बिना पैसे के बुद्धि के सहारे कैसे काम चलती हो ” ऐसा कहकर उसने रानी को नगर के बाहर एक मकान में रख दिया दो – चार नौकर के अलावा खर्च के लिए कोई सामान व पैसा न दिया।

  1. राजा को रानी की बुद्धिमानी पर विश्वास कैसे हुआ ?

उ० =>  राजा जब लौटकर  अपने नगर में आए , तो देखते हैं की रानी के मकान के पास औषधालय ,पाठशाला , अनाथालय आदि कई इमारते बने हुआ देखे तो उनको रानी की बुद्धिमानी पर विश्वास हुआ।

  1. रानी की किस बात पर राजा को बहुत गुस्सा आ गया और फिर फिर उसने क्या किया ?

उ० =>  रानी द्वारा बुद्धि को बड़ा बताना और पैसे की निंदा करना सुनकर राजा को बहुत गुस्सा आया और फिर राजा ने रानी को नगर के बाहर एक मकान में रख दिया परन्तु खर्च के लिए एक भी पैसा नहीं दिया और ना  ही कोई सामान।

  1. देशाटन के लिए जाते समय पहले ठगों ने राजा से रूपए कैसे ठग लिए ?

=>  देशाटन के लिए जाते समय पहले ठग ने राजा के पास आकर बोला “महाराज , मैंने अपनी एक आँख आपके यहाँ से हजार में गिरवी राखी थी। वादी के अनुसार आप अपने रुपये लेकर मेरी आँख मुझे वापस कीजिए, ” यदि आप मेरी आँख न देंगे , तो आपकी बड़ी बदनामी होगी। “फिर राजा ने जैसे तैसे उसे चार हजार रुपये देकर विदा किया।

  1. देशाटन के लिए जाते समय दूसरे ठग ने राजा से रूपए कैसे ठग लिए ?

=> दूसरे ठग ने भी राजा रोककर रास्ते में कहा महाराज मैंने अपना एक कान आपके यहाँ गिरवी रखा था। रुपया लेकर मेरा कान मुझे वापस कीजिए। तब राजा ने उसे भी रूपया देकर विदा किया।

  1. राजकुमारी दुबारा राजा को भेजी गई चिठ्ठी में क्या लिखा था ?

=> राजकुमारी दुबारा राजा को भेजी गई चिठ्ठी में लिखा था कि ” जो आदमी उसे शतरंज में हरा देगा, वह उसी से साडी करेगी। “अंत में यह भी लिखा की यदि तुम में हार गए, तोह तुम्हें जेल की हवा खानी पड़ेगी।“

  1. राजा की मदद किसने और कैसे की ?

=> राजा कि मदद उनकी रानी ने अपनी बुद्धि का उपयोग कर के किया रानी ने पुरुष वेश में राजकुमारी चौबोला के महल में पहुँची और शतरंज खेल में राजकुमारी चौबोला को हराकर राजा से उनकी विवाह की शर्त पूरी हुई और तीनों अपने राज्य लौट आए।

  1. 11. रानी ने पहले ठग द्वारा गिरवी आँख मांगने पर रानी ने ठग को क्या जवाब दिया ?

=>  रानी ने कहा “बहुत ठीक , मेरे पास बहुत – से लोगो की आँखे गिरवी राखी है , उन्हीं में तुम्हारी भी होगी। एक काम करो। तुम अपनी आँख निकलकर मुझे दे दो जाएगी। ”

  1. दूसरे ठग ने रानी से अपना पिंड कैसे छुड़ाया ?

=> दूसरे ठग ने जब देखा की रानी का नौकर दूसरा कान काटने वाला हैं , तो उसने भी चार हजार रूपए देकर रानी से अपना पिंड छुड़ाया।

  1. ठगो से निपटारा कर रानी कहाँ पहुँची ?

=> ठगो से निपटारा कर रानी आगे बढ़ी और पता लगाते – लगाते राजकुमारी चौबोला के देश में जा पहुँची।

  1. राजा कब लज्जित हुए ?

=> राजा जब लौटकर अपने नगर में आए, तो देकते है कि रानी के मकान के पास औषधालय , पाठशाला , अनाथालय  आदि कई इमारतें बनी हैं। यह देखकर राजा लगे की मैंने तो रानी को एक पैसा नहीं दिया था।  फिर रानी ने इतना कुछ कैसे बनवाया राजा को रानी की बुद्धिमानी पर विश्वास हो गया वे लज्जित हुए।

  1. अंत में राजा ने रानी से क्या कहा ?

=>  अंत में राजा ने रानी से कहा की ” रानी, अभी तक मैं बड़ी भूल में था। तुमने मेरी आंखें  खोल दीं। अभी तक मई पैसे को ही सब कुछ समझता था , पर आज मेरी समझ में आया  कि बुद्धि के आगे पैसा कोई चीज़ नहीं हैं।

निम्नलिखित वाक्यों में रेखांकित शब्दों के लिंग बदलकर पुलिंग लिखिए :-

  1. सेठ ने नौकर को बुलाया।

=> सेठानी ने नौकर को बुलाया।

  1. 2. राजकुमारी को राजमहल में बुलाया गया।

=> राजकुमार को राजमहल में बुलाया गया।

  1. राजा बहुत संपन्न और अहंकारी था।

=> रानी बहुत संपन्न और अहंकारी था।

उचित विकल्प पर  ( ) का चिन्ह लगाइए :-

  1. 1. ‘अपमान ‘ में कौन – सा उपसर्ग हैं ?

अ   (      )        अप  ( )      अति  (      )          मान  (      )

  1. 2. ‘ बदनामी ‘ में कौन – सा उपसर्ग हैं ?

ब   (      )      ई    (      )      बद   ( )       नाम    (      )

  1. 3. ‘ अवशेष ‘ में कौन – सा उपसर्ग हैं ?

आ  (      )    अव  ( )       आव  (      )    काश  (      )

  1. 4. ‘ सहर्ष ‘ में कौन – सा उपसर्ग हैं ?

स  ( )        सह    (      )    हर्ष   (      )   सहर्  (      )

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *